Header Ads

करणी सेना ने 'पद्मावत' का विरोध वापस लेने का किया ऐलान...



संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' को लेकर पिछले लंबे वक्त से विरोध कर रही राजपूत करणी सेना ने ऐलान किया है कि वह अपना यह विरोध वापस ले रही है. करणी सेना ने इस फिल्म को लेकर कई राज्यों मे विरोध प्रदर्शन किया था और फिल्म को रिलीज करने से रोकने के लिए हर तरह की कोशिश की थी. हालांकि,
शुक्रवार को करणी सेना ने अपने इस विरोध को वापस लेते हुए कहा कि भारत के जिन राज्यों में फिल्म को रिलीज नहीं किया गया है उन राज्यों में अब इस फिल्म को रिलीज कराने में करणी सेना मदद करेगी.

करणी सेना ने अपने विरोध को वापस लिए जाने के बारे में कहा कि फिल्म राजपूत की वीरताओं को स्पष्ट करती है. राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के मुंबई अध्यक्ष योगेंद्र सिंह ने कहा कि करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामड़ी के निर्देश पर कुछ सदस्यों ने मुंबई में शुक्रवार को फिल्म देखी और पाया कि फिल्म राजपूत की वीरता और बलिदान को गौरवान्वित करती है और फिल्म देखने के बाद राजपूत गर्व महसूस करेंगे.

फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी और महारानी पद्मावती के बीच किसी भी इस तरह के सीन को नहीं दिखाया गया, जिससे राजपूतों की भावनाओं को ठेस पहुंचे. करणी सेना ने एक पत्र लिखते हुए ऐलान किया कि वो अपने इस विरोध को वापस ले रही है और फिल्म को राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात जैसे राज्यों में रिलीज करने में मदद करेगी.
गौरतलब है कि करणी सेना द्वारा इस फिल्म को बैन करने की मांग की जा रही थी और उनका आरोप था कि इस फिल्म में राजपूतों की भावनाओं को ठेस पहुंचाया गया है. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म को बैन करने से मना कर दिया था और इसे देशभर में रिलीज करने के आदेश दिए थे. फिल्म को 25 जनवरी को कड़ी सुरक्षा के बीच रिलीज किया गया था, लेकिन उसके बाद भी कई इलाकों में फिल्म को लेकर करणी सेना द्वारा विरोध किया जा रहा था. विरोध की वजह से गुजरात और हरियाणा के कुछ इलाकों के सिनेमा घरों में फिल्म को नहीं दिखाया गया.


हालांकि, इसके बाद भी संजय लीला भंसाली की यह ऐतिहासिक फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन कर रही है और दर्शकों द्वारा फिल्म को काफी पसंद भी किया जा रहा है. सिर्फ देश ही नहीं विदेश में भी फिल्म काफी अच्छा बिजनेस कर रही है. इस फिल्म में दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर ने अहम भूमिकाएं निभाई हैं.